गुरुवार, सितंबर 02, 2010

तुम मेरे साथ चल के तो देखो

- वर्षा सिंह

तुम मेरे  साथ  चल के तो देखो।
रोशनी में  भी  ढल  के तो देखो।

मायने   ज़िन्दगी   के   बदलेंगे
बन के ‘वर्षा’ पिघल के तो देखो।

---------------------------------------------------


5 टिप्‍पणियां:

  1. sundar hai, aagaaz hai pyara
    sachmuch yah andaaz hai pyara
    chalo tumhare saath khade sub
    kyonki yah parvaaz hai pyara

    उत्तर देंहटाएं
  2. पंकज जी, मेरी इस पत्रिका में आप की ग़ज़लों का स्वागत है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. कारवां जुड़ता रहेगा, मंज़िलें मिलती रहेंगी। हार्दिक बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  4. dekhta h kab talak yah haar he
    har daav par jeet ka itwaar he
    kitni jaldi usne jameen chod di ,
    sohrato ka kis kadar khumaar he

    उत्तर देंहटाएं
  5. Thanks, OP Yadav ji!Isi tarah vicharon se avagat karaten rahen.

    उत्तर देंहटाएं