मंगलवार, अक्तूबर 14, 2014

My Poetry...

poetry of varsha singh

3 टिप्‍पणियां:

  1. सच है प्यार प्यार ही है ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. ॐ बहुत अच्छा लिखा है आपने डा• वर्षा सिंह जी ! सही बात है प्यार शर्तों से हो ही नहीं सकता, शर्तों पर तो सौदा होता है,प्यार नहीं !!
    ( बेगराज खटाना )

    उत्तर देंहटाएं