मेरा परिचय

शिक्षा               - एम.एस.सी (वनस्पति शास्त्र), बी.एड.
                     डॉक्टर ऑफ इलेक्ट्रो होम्योपैथी एण्ड मेडिसिन।

प्रकाशित पुस्तकें -

ग़ज़ल संग्रह-वक्त पढ़ रहा है,सर्वहारा के लिए, हम जहां पर हैं,सच तो ये है,दिल बंजारा (शीघ्रप्रकाश्य)
नवसाक्षरों के लिए-पानी है अनमोल,कामकाजी महिलाओं के सुरक्षा अधिकार
आलोचना पुस्तक-हिन्दी ग़ज़ल: दशा और दिशा (पुनर्मुद्रण हेतु प्रकाशनाधीन)
अन्य प्रकाशन- हंस, सारिका, आजकल, वागर्थ, धर्मयुग, साप्ताहिक हिन्दुस्ता, नई धारा, बेला, ईसुरी, गोलकुण्डा दर्पण, परिधि, जनसत्ता, दैनिक हिन्दुस्तान, लोकमत समाचार, दैनिक भास्कर, नवभारत, दैनिक जागरण, देशबन्धु आदि देश की प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं सहित विद्युतमण्डल/ विद्युत वितरण कम्पनी की गृह पत्रिकाओं ‘विद्युत सेवा’ एवं ‘विद्युद् ब्रह्मेति’ में रचनाओं का प्रकाशन।

संपादन-मध्य प्रदेश राज्य विद्युत मण्डल हिन्दी परिषद् (बीना इकाई)की पत्रिका‘विद्युत पुष्प’ का संपादन।

प्रसारण-साहित्यिक मंचों, दूरदर्शन एवं आकाशवाणी के विभिन्न केन्द्रों से रचनाओं का नियमित प्रसारण।

सम्मान-केन्द्रीय हिन्दी परिषद, मध्य प्रदेश राज्य विद्युत मण्डल द्वारा ‘विशिष्ट हिन्दी सेवी सम्मान,हिन्दी परिषद् (बीना शाखा) मध्य प्रदेश राज्य विद्युत मण्डल द्वारा ‘हिन्दी शिरोमणि’ सम्मान,राजभाषा परिषद् भारतीय स्टेट बैंक, सागर शाखा द्वारा ‘उत्कृष्ट साहित्य सृजनकर्ता सम्मान’,जनपरिषद् भोपाल द्वारा ‘लीडिंग लेडी ऑफ मध्यप्रदेश’ सम्मान, बुन्देली लोक कला संस्था, झांसी, उत्तरप्रदेश द्वारा ‘गुरदी देवी सम्मान’।

शोध एवं संकलनों में उल्लेख-‘वक्त पढ़ रहा है’ ग़ज़ल संग्रह देशके विभिन्न विश्वविद्यालयों के शोध ग्रंथों में संदर्भित एवं उल्लेखित। ‘महिला संदर्भ’ देशबंधु प्रकाशन (छत्तीसगढ़) ग्रंथ में उल्लेख। पचास से अधिक ग़ज़ल संकलनों में ग़ज़लें संकलित।

निर्णायक-मध्यप्रदेश राज्य विद्युत मण्डल की राज्य स्तरीय अन्तर क्षेत्रीय हिन्दी काव्य स्पर्धा में निर्णयक। मध्यप्रदेश राज्य विद्युत मण्डल की संभाग स्तरीय क्षेत्रीय हिन्दी काव्य स्पर्धा में निर्णयक। भारतीय स्टेट बैंक, सागर शाखा में हिन्दी वाद-विवाद प्रतियोगिता में निर्णायक। महारानी लक्ष्मीबाई शा.उ.मा. कन्या विद्यालय में हिन्दी वाद-विवाद प्रतियोगिता में निर्णायक।

संरक्षक   - समय-सुरभि (त्रैमासिक), नई ग़ज़ल (द्विमासिक)।

सम्प्रति   - मध्यप्रदेश पूर्वक्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी लि. में कर्यरत।

11 टिप्‍पणियां:

  1. Botany,,,,,,,,,,,,,,,,unbeleivelable,,,,,,,,,,,,writes such fantastic gazals

    उत्तर देंहटाएं
  2. what a rich profile!....best wishes ...likhte rahiyega...hum padhte rahenge

    उत्तर देंहटाएं
  3. Ved Parkash ji,
    Thank you for visiting my blog!
    Always welcome your comments on my blogs.

    उत्तर देंहटाएं
  4. अभिन्न जी,
    मेरे ब्लॉग पर आने के लिए हार्दिक आभार...
    मेरे लेखन के लिये आपकी शुभकामनायें मिलीं.....इस उत्साहवर्द्धन के लिए अत्यन्त आभारी हूं। आपको बहुत-बहुत धन्यवाद !
    आपके विचारों का मेरे ब्लॉग्स पर सदा स्वागत है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. Varsha Ji,

    Nice rich background..we have a common background with Botany and love of Ghazal writings...:) Appreciate your encouraging comments on my blog.

    Ashoo

    उत्तर देंहटाएं
  6. ओह!! आज पता चला कि आप एम पी ई बी में है. मेरे पिता जी भी MPEB से ही रिटायर हुए और हमारा सारा बचपन विद्युत मंडल में ही गुजरा. मेरे पिता जी श्री पी के लाल, कार्यकारी निर्देशक होकर रिटायर हुए.

    उत्तर देंहटाएं
  7. समीरलाल जी,
    आपके पिता जी श्री पी के लाल की सहृदयता एवं कर्मठता सदैव मेरे लिए प्रेरणा रही है. उनसे मिलने का अवसर तो नहीं मिला किन्तु नाम सदैव आदरपूर्वक स्मरण किया है. उन्हें मेरा सादर प्रणाम.

    उत्तर देंहटाएं
  8. vidisha jate/aate samay bina me rukna pada. train badalni thi. bina me rah kar koi itna achcha likhega mujhe pata nahi tha . senior citizen hun isliye kah sakta hun, shaabash .

    उत्तर देंहटाएं
  9. aap ka parichya padh kar bahut aacha laga aap ka parichaya prednaday hai

    उत्तर देंहटाएं
  10. Looking to publish Online Books, in Ebook and paperback version, publish book with best
    Free E-book Publishing Online

    उत्तर देंहटाएं